Ek Tarfa Lyrics lyrics in Hindi sung by Yasser Desai and Arko. The song is written by Arko with Adeip Singh. The song is composed by Javed-Mohsin and music is given by Aditya Dev. The video features Onima Kashyap & Gavvy Saggu.

Ek Tarfa Song Details

Ek Tarfa Lyrics in Hindi – Arko, Adeip Singh

मेरा एक तरफ़ से ये प्यार
दो तरफ़ निभाता हूँ मैं
कभी खुद ही का दिल तोड़ के
खुद ही को मनाता हूँ मैं
जैसे नूर किसी महफ़िल का
हर ज़ख्म मेरे इस दिल का
हर शाम सजाता हूँ मैं
फिर यादों की मनमर्जी
ये जाम ये खुदगर्ज़ी
तेरे नाम पिरोता हूँ मैं
इतने रहे हम तुमसे दूर की
दूरी रास आ गई
इतनी मोहब्बत की मोहब्बत
खुद ही पास आ गई
इतने रहे हम तुमसे दूर की
दूरी रास आ गई
इतनी मोहब्बत की मोहब्बत
खुद ही पास आ गई

मेरा एक तरफ़ से इज़हार
ना किसी को दिखाता हूँ मैं
कभी खुद ही का दिल तोड़ के
खुद ही को मनाता हूँ मैं
हाँ ढूँढना बहाना
और किश्तों में जताना
बेवजह है
समझता हूँ मैं
थोड़ा झूठ भी
थोड़ा सच भी
थोड़ा सही
थोड़ा ग़लत भी
सब बोल दो
कहता हूँ मैं
इतने रहे हम तुमसे दूर की
दूरी रास आ गई
इतनी मोहब्बत की मोहब्बत
खुद ही पास आ गई
इतने रहे हम तुमसे दूर की
दूरी रास आ गई
इतनी मोहब्बत की मोहब्बत
खुद ही पास आ गई

More Hindi Songs for You:
हम तो दीवाने Hum Toh Deewane
होना ही नहीं Hona Hi Nahi
माउंटेन पीक Mountain Peak
जहां पे दिल है Jahaan Pe Dil Hai
स्पोर्ट्स गड्डियाँ Sports Gaddiyan
माँ के दिल से Maa Ke Dil Se
कुछ इतने हसीन Kuch Itne Haseen
चुनरी में दाग Chunari Mein Daag
शुभो शुभो Shubho Shubho
बैरिया Bairiya

Ek Tarfa Lyrics in English

Mera ek tarfa sa yeh pyaar
Do tarfa nibhata hun main
Kabhi khud hi ka dil tod ke
Khud hi ko manata hun main
Jaise noor kisi mehfil ka
Har zakham mere iss dil ka
Har shaam sajata hun main
Phir yaadon ki manmarzi
Yeh jaam yeh khudgarzi
Tere naam pirota hun main
Itne rahe hum tumse door ki
Doori raas aa gayi
Itni mohabat ki ke mohabat
Khud hi paas aa gayi
Itne rahe hum tumse door ki
Doori raas aa gayi
Itni mohabat ki ke mohabat
Khud hi paas aa gayi

Mera ek tarfa sa izhaar
Na kisi ko dikhata hun main
Kabhi khud hi ka dil tod ke
Khud hi ko manata hun main
Haan dhoondna bahana
Aur kishton mein jatana
Bewajah hai
Samajhta hun main
Thoda jhooth bhi
Thoda sach bhi
Thoda sahi
Thoda ghalat bhi
Sab bol do
Kehta hun main
Itne rahe hum tumse door ki
Doori raas aa gayi
Itni mohabat ki ke mohabat
Khud hi paas aa gayi
Itne rahe hum tumse door ki
Doorie raas aa gayi
Itni mohabat ki ke mohabat
Khud hi paas aa gayi